पूर्वांचल के बाद अब बुंदेलखंड की बारी, भाजपा की उम्‍मीदों को बुलंद करेंगे पीएम मोदी

0 1,096

उत्‍तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों को लेकर बीजेपी ने पूरी ताकत लगा दी है। प्रदेश के पश्चिमी, पूर्वी, मध्‍य और बुंदेलखंड के लिए अलग-अलग रणनीति बनाकर पार्टी अभियान में जुटी है। पीएम मोदी पिछले एक महीने में तीन बार पूर्वांचल का दौरा कर चुके हैं। 2017 के चुनाव में पूर्वांचल की 164 में से 115 सीटें जीतने वाली भाजपा ने बुंदेलखंड में क्‍लीन स्‍वीप करते हुए सभी 19 सीटें जीत ली थीं लेकिन इस बार दोनों ही इलाकों में जबरदस्‍त घमासान होने के आसार हैं। पिछली जीत को दोहराने के लिए दिन-रात कवायद में जुटी बीजेपी के लिए पीएम मोदी का 19 नवम्‍बर का बुंदेलखंड दौरा काफी अहम है।

 

बुंदेलखंड, हमेशा से बीजेपी का गढ़ नहीं रहा है। 1980 में राजेन्द्र अग्निहोत्री ने झांसी सीट से जीतकर पहली बार यहां बीजेपी का खाता खोला था। बाद में 1985 में गरौठा सीट से पार्टी उम्‍मीदवार मानवेन्द्र सिंह जीते। पार्टी को इस इलाके में सबसे बड़ी जीत 1991 में मिली थी। तब यहां की 11 सीटें बीजेपी की झोली में गई थीं। उसके बाद बीजेपी यहां पर दहाई के अंक तक को नहीं छू पाई थी। 2017 के विधानसभा चुनाव में उसे बड़ी सफलता मिली और सभी 19 सीटें जीतीं। राममंदिर आंदोलन के दौर में भी बीजेपी को बुंदेलखंड इतनी शानदार जीत नहीं मिली थी लेकिन इस बार बीजेपी पर पिछला प्रदर्शन दोहराने का दबाव है। पार्टी के रणनीतिकारों का मानना है कि पीएम के आने से बुंदेलखंड में भाजपा के समीकरणों को और मजबूती मिलेगी और जीत की उम्‍मीदें बुलंद होंगी। पीएम मोदी बुंदेलखंड में योगी सरकार और भाजपा के लिए सबसे बड़ा चुनावी प्‍लेटफार्म तैयार करेंगे। मोदी के दौरे के जरिये भाजपा बुंदेलखंड में अपनी चुनावी रणनीति को जमीन पर उतारने की तैयारी कर रही है।

 

आजादी के अमृत महोत्सव के तहत झांसी में बुधवार से शुरू हुए ‘झांसी जलसा उत्सव’ का समापन 19 नवम्बर को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी करेंगे। रक्षा क्षेत्र में सरकार की योजनाओं के शिलान्यास के साथ ही देश की रक्षा के प्रति संकल्प, शौर्य, पराक्रम और बलिदान की भारतीय परंपरा की झलक से ‘झांसी जलसा’ एतिहासिक बनेगा।

महारानी लक्ष्मीबाई की जयंती पर रक्षा मंत्रालय और राज्य सरकार के समन्वय से झांसी में मनाया जा रहा राष्ट्र रक्षा पर्व बुधवार से शुरू हो चुका है। उत्सव के समापन समारोह में पीएम मोदी झांसी पहुंचेंगे। प्रधानमंत्री खुली जिप्सी में झांसी किले के प्रमुख स्थलों को भी करीब से देखेंगे। पीएम नरेन्द्र मोदी डिफेंस कॉरिडोर के झांसी नोड पर पहले प्रोजेक्ट की नींव भी रखेंगे। पीएम दिल्ली स्थित नेशनल वॉर मेमोरियल में बने नए कियोस्क और एक मोबाइल ऐप को भी देश को समर्पित करेंगे। पीएम मोदी इस दौरान बुंदेलखंड के लोगों को अरबों रुपये की योजनाओं की सौगात भी देंगे।

 

पीएम लगभग दर्जन भर योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्‍यास करेंगे। पीएम मोदी इस दौरान झांसी में 600 मेगावाट क्षमता के अल्‍ट्रा मेगा सोलर पावर प्लांट का शिलान्‍यास करेंगे। झांसी में ही अटल एकता पार्क का लोकार्पण भी प्रधानमंत्री करेंगे। यहां 8000 पुस्तकों के संग्रह के पुस्तकालय, ओपेन जिम और 500 व्यक्तियों की क्षमता के ओपर थिएटर का उदघाटन भी करेंगे। भारत डायनामिक्‍स लिमिटेड की झांसी इकाई का शिलान्‍यास भी प्रधानमंत्री करेंगे। इसके साथ ही एनसीसी की सिमुलेटर ट्रेनिंग फैसिलिटी का शुभारंभ, एनसीसी एलुमिनी एसोसिएशन का शुभारंभ पीएम करेंगे। वहीं पीएम मोदी महोबा में अर्जुन बांध परियोजना के लोकार्पण समेत कई योजनाओं का शिलान्‍यास भी करेंगे। इसके साथ ही महोबा और झांसी में दो जनसभाओं के जरिये पीएम मोदी बुंदेलखंड में भाजपा का चुनावी एजेंडा भी सेट करेंगे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Vnation के Facebook पेज को LikeTwitter पर Follow करना न भूलें...
Leave A Reply

Your email address will not be published.