कुछ ही घंटों में 270 रुपये बन गए 1 करोड़! एम्बुलेंस ड्राइवर को लगा जैकपॉट

0 90

आपने ऐसी कई कहानियां सुनी होंगी, जिसमें कोई शख्स शून्य से शिखर तक का सफर तय करता है. हालांकि इस तरह के संघर्ष वाले सफर में काफी मेहनत और समय लगता है, लेकिन आपने ऐसे किस्से कम ही सुने होंगे जिसमें कोई रातोंरात मेहनत की जगह किस्मत से करोड़पति बन जाए. पश्चिम बंगाल के एक शख्स के साथ ऐसा ही कुछ हुआ है. इस शख्स को महज कुछ ही घंटों में लॉटरी में 1 करोड़ का जैकपॉट लगा और वह देखते-देखते करोड़पति बन गया. आइए विस्तार से जानते हैं क्या है पूरा मामला.

पूर्वी बर्धमान जिले में रहने वाले शेख हीरा पेशे से एम्बुलेंस ड्राइवर हैं. शेख पिछले दिनों सुबह उठे थे और कुछ देर बाद एक दुकान पर किसी काम से गए थे. वहां उन्होंने 270 रुपये का लॉटरी का टिकट खरीदा और फिर काम पर चले गए. दोपहर तक उनका 1 करोड़ रुपये का जैकपॉट लग गया और वह कुछ ही घंटों में आम आदमी से खास आदमी बन गए.

उन्हें जब लॉटरी निकलने का पता चला तो वह काफी हैरान होने के साथ डर भी गए. शेख हीरा शक्तिगढ़ पुलिस स्टेशन में पुलिस से सलाह लेने भी गए. उन्हें लॉटरी का टिकट खोने का डर था. पुलिस उन्हें सुरक्षित उनके घर लेकर आई और घर के बाहर कुछ पुलिसकर्मी तैनात कर दिए.

शेख कहते हैं कि उनकी मां काफी समय से बीमार है और उसका इलाज चल रहा है. इलाज में काफी पैसों की जरूरत थी, लेकिन पैसे न हो पाने की वजह से ठीक से इलाज नहीं हो पा रहा था. अब जब इतने रुपये आएंगे तो मैं मां का इलाज अच्छे से कराऊंगा. वह कहते हैं अब मुझे विश्वास है कि मां जल्दी ठीक हो जाएगी. इसके अलावा एक अच्छा खबर भी बनवाऊंगा. शेख कहते हैं कि मैं अक्सर लॉटरी टिकट खरीदता रहता था. हमेशा मैं सपना देखता था कि मेरा जैकपॉट लगेगा.

वहीं हीरा को लॉटरी टिकट बेचने वाले दुकानदार शेख हनीफ का कहना है कि ‘मैं कई सालों से लॉटरी टिकट के बिजनेस में हूं. बहुत से लोग मेरी दुकान से टिकट खरीदते हैं. कई लोगों को कुछ-कुछ पुरस्कार मिलते रहे हैं, लेकिन इतना बड़ा जैकपॉट प्राइज मेरे द्वारा बेचे गए लॉटरी टिकट में पहली बार निकला है. मुझे खुशी है कि मेरे एक ग्राहक को इतना बड़ा इनाम मिला है.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Vnation के Facebook पेज को LikeTwitter पर Follow करना न भूलें...
Leave A Reply

Your email address will not be published.