मुस्लिम लड़की ने की हिंदू युवक से किया विवाह , मंदिर में लिए सात फेरे, आरजू से बनी आरती

0 47

महोबा : यूपी के महोबा जिले में एक मुस्लिम युवती ने मोहब्बत के लिए मजहब की दीवार तोड़ दी. करीब पांच साल चले प्रेम प्रसंग के बाद उसने हिंदू युवक से गौरैया माता मंदिर में शादी कर ली. मुस्लिम युवती ने आरजू राइन से अपना नाम बदल कर आरती जायसवाल रख लिया है. इस विवाह में वर पक्ष के परिजन और हिंदू संगठन के लोग साक्षी बने. सभी ने दोनों को सुखी दांपत्य जीवन बिताने का आर्शीवाद दिया. वर पक्ष ने सरकारी मदद और सुरक्षा की मांग की है.

दरअसल, महोबा जिले के पनवाड़ी कस्बे की रहने वाली आरजू राइन ने कस्बे के ही हिंदू युवक दिनेश जायसवाल से शादी की है. आरजू और दिनेश की पांच वर्ष पूर्व मुलाकात हुई थी. इसके बाद दोनों में दोस्ती हो गई और दोस्ती धीरे-धीरे प्यार में बदल गई. दोनों एक दूसरे के प्यार में इस कदर खोए कि साथ जीने मरने की कसम खा बैठे.

उधर, आरजू और दिनेश के बीच में चल रहे प्रेम प्रसंग का दोनों के परिवारीजन लगातार विरोध कर रहे थे. लेकिन दोनों ही शादी की जिद पर अड़े रहे. ऐसे में परिजनों के विरोध के चलते प्रेमी जोड़ा घर से भाग गया. फिर दोनों ने आपसी सहमति से शादी कर ली और एकसाथ रहने लगे.

अब पांच साल बाद दोनों अपने गांव वापस लौटे हैं. बीते दिन उन्होंने मंदिर में हिंदू रीति-रिवाज से विवाह कर लिया. जिसके साक्षी वर पक्ष के परिवारीजन और हिंदू संगठन के लोग बने. आरजू ने हिंदू धर्म अपनाते हुए अपने प्रेमी का हाथ थाम लिया. आरजू ने अपना नाम आरती रख लिया है.

दोनों ने हिंदू संगठन और वर पक्ष के परिजनों के समक्ष पनवाड़ी के गौरैया माता मंदिर में भगवान को साक्षी मानकर वैदिक मंत्रोच्चार के बीच सात फेरे लिए. आरजू से आरती जायसवाल बनी दुल्हन ने जय श्रीराम का जयकारा लगाते हुए कहा कि ‘मेरा नाम अब आरजू से बदलकर आरती हो गया है. मैंने हिंदू धर्म अपनाते हुए दिनेश जायसवाल से शादी कर ली है और मैं बहुत खुश हूं.’

आरजू से आरती बनी युवती ने कहा कि उसे बचपन से ही हिंदू धर्म में आस्था रही है और अपने घर के दरवाजे पर नवरात्रि में स्थापित होने वाले मूर्ति पंडालों में जाकर शामिल होती थी. धीरे-धीरे उसकी इस धर्म में श्रद्धा बढ़ती गई और अब उसने दिनेश से शादी कर ली है. अब वह भी हिंदू धर्म मानती है.

वहीं, दिनेश जायसवाल ने बताया कि 5 वर्ष पूर्व उसका आरजू के साथ प्रेम प्रसंग शुरू हुआ था. परिवार के लोग नहीं माने तो वह दोनों घर से भाग गए और अब वापस आकर मंदिर में शादी की है. हम दोनों बेहद खुश हैं. मेरे परिवार के लोगों ने भी आरजू को अपना लिया है और अपनी बहू मान लिया है. अब वह आरजू नहीं बल्कि आरती है. सरकार से मदद की भी मांग की है.

दिनेश की मां सरस्वती जायसवाल बताती हैं कि वह अपने पुत्र के विवाह से खुश हैं और उनकी बहू जो पहले मुस्लिम थी उसने भी हिंदू धर्म अपना लिया है. अब वह चाहती हैं कि सरकार इनकी सुरक्षा पर ध्यान दे. साथ ही इनको सरकारी योजनाओं का लाभ दिया जाए ताकि वे अपना परिवार चला सकें.

गौरतलब है कि आरजू कुछ साल पहले अपने हिंदू प्रेमी के साथ घर से भाग गई थी. ये दोनों दिल्ली में रहे. दिल्ली से आने के बाद यहां विधि विधान से शादी रचाई. इस अनोखी शादी को लेकर गांव के लोग चर्चा कर रहे हैं.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Vnation के Facebook पेज को LikeTwitter पर Follow करना न भूलें...
Leave A Reply

Your email address will not be published.