अब घर बैठे दर्ज करा सकेंगे यूपी में राजस्व मुकदमे, सॉफ्टवेयर तैयार

0 33

लखनऊ: अब घर बैठे मोबाइल या लैपटॉप से राजस्व मुकदमा दर्ज कराया जा सकता है। इसके अलावा कॉमन सर्विस सेंटर जाकर भी मुकदमा दर्ज कर सकते हैं। राजस्व मुकदमों में तारीख पर तारीख का सिलसिला खत्म करने के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर राजस्व परिषद ने सॉफ्टवेयर तैयार किया है। इसी माह यह सॉफ्टवेयर लॉन्च कर दिया जाएगा। ऐसे में अब इस बात का डर नहीं कि पेशकार पता नहीं मुकदमा दर्ज करें या नहीं।

नई व्यवस्था उत्तर प्रदेश के 75 जिलों में एक साथ लागू होगी। प्रदेश में प्रत्येक माह औसतन 2.5 लाख नए राजस्व वाद दर्ज होते हैं। जनवरी में 2 लाख 43 हजार वाद दर्ज किए गए थे। ये व्यवस्था नायब तहसीलदार से तहसीलदार, एसडीएम, एडीएम, कमिश्नर और राजस्व परिषद कोर्ट में लागू हो जाएगी। मौजूदा समय प्रदेश में 3100 राजस्व कोर्ट हैं। ऑनलाइन आवेदन के समय दर्ज मोबाइल नम्बर पर वाद से संबंधित हर चरण का अलर्ट आता रहेगा। मुख्यमंत्री के निर्देश पर राजस्व परिषद के ओएसडी अजय श्रीवास्तव, प्रमोद पाण्डेय ने एनआईसी के साथ समन्वय कर सॉफ्टवेयर तैयार करवाया है।

अफसर या बाबू नहीं कर सकेंगे आनाकानी
कई जिलों से शिकायत आ रही थी कि अफसर या पेशकार आनाकानी कर रहे हैं। मुकदमा दर्ज नहीं करते। नई व्यवस्था में फरियादी ऑनलाइन प्रारम्भिक नाम, बनाम, धारा का उल्लेख करते हुए मुकदमा दर्ज कर सकेगा। इसके बाद उसका प्रिंट लेकर तय तारीख में संबंधित राजस्व कोर्ट जाना होगा। वहां अधिवक्ता उनका मुकदमा लड़ेंगे। कोर्ट को मुकदमा खारिज करने का अधिकार रहेगा, लेकिन इसका वैध कारण संबंधित पीठासीन अधिकारी को लिखित तौर पर देना होगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Vnation के Facebook पेज को LikeTwitter पर Follow करना न भूलें...
Leave A Reply

Your email address will not be published.