यूपी के इस जिले में आग का तांडव, एक दिन में 18 जगह तबाह; खेत-घर, शमशान को लेकर अलर्ट जारी

0 40

बस्ती : बस्ती जिले में लगातार तीन हफ्ते से आग का तांडव जारी है। आग बुझाने के लिए जब तक अग्निशमन विभाग टीम दमकल लेकर पहुंचती है तब तक लोगों के आशियाने, फसल व उनके अरमान जलकर बर्बाद हो जा रहे हैं। रविवार को भी आग का कहर जिले में बना रहा। तेज पछुआ की हवाएं आग में घी का काम रही हैं। आग की लपटें तेजी से फैल कर गेहूं के प्लाट का प्लाट साफ कर दे रहीं हैं। रुधौली थानाक्षेत्र के पड़इयाचेत सिंह व उमरा दसिया गांव में इरशाद के गेहूं के खेत में आग लगी। दमकल ने बड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया।

नगर क्षेत्र के राजघाट गांव में, कोतवाली क्षेत्र के मूड़घाट, मलिकपुरवा, अमहट व सियरापार गांव में गेहूं के खेत में तथा वाल्टरगंज थानाक्षेत्र के छरौरा, पोखरभिटवा, बड़ेवन गनेशपुर में बाग में व पलानी मझौआमीत गांव में गेहूं के खेत में, पुरानी बस्ती थानाक्षेत्र के मरवटिया गांव में, कप्तानगंज थानाक्षेत्र के महराजगंज के गेहूं के खेत में, पैकोलिया के घाटमपुर गांव में, सोनहा थानाक्षेत्र के परसोइया गांव में खड़ी गेहूं की फसल आग की भेंट चढ़ गई। मुंडेरवा थानाक्षेत्र के रामपुर गांव में, सोनहा थानाक्षेत्र के बढौया नगवरिया में तकरीबन पचास बीघे से अधिक गेहूं की फसल आग की चपेट में आकर नष्ट हो गई।

दूध गर्म करते समय चिंगारी से लगी आग
लालगंज क्षेत्र के जिगनादेव में रविवार को लगभग 12.30 बजे पर घर में दूध गर्म करते वक्त राम बेलास पांडेय के घर उठी चिंगारी से मकान में रखा घर गृहस्थी का सारा सामान आग में जलकर राख हो गया है। घर में रखा 20 बोरी धान, 10 कुंतल चावल व 15 कुंतल गेहूं 10 हजार कैश, जेवर कपड़े सहित घर गृहस्थी का पूरा सामान जलकर राख हो गया है।

आग बुझाने में जूझते रहे फायरमैन
भानपुर में सोनहा थाने के बनटिकरा गांव के सिवान में गेंहू के डंठल में लगी आग को बुझाने के लिए फायर स्टेशन भानपुर के चालक सहित चार फायरमैन चार घंटे तक जूझते रहे। तेज पछुआ हवा के झोंके से आग की लपटे बैदौला व कोपा गांव के सीवान तक भी फैल गई, जिससे 5 किमी तक खेत में खड़ा गेंहू का डंठल जलकर राख हो गया। बनटिकरा, बैदौला गांव के समीप आग पहुंचने से ग्रामीण परेशान रहे।

अलर्ट जारी
दमकल विभाग ने अलर्ट जारी करते हुए लोगों को सतर्क रहने के लिए कहा है। घरों में आग का काम करते समय आस-पास कोई भी ज्वलनशील सामान आग की पहुंच से दूर रखें। साथ ही खेतों में भी किसानों को अलाव जलाने को लेकर सतर्क किया गया है। दिन में माचिस से और रात में कई बार मौसम में बदलाव के कारण जलाए गए अलाव से चिंगारी उड़कर खेतों तक पहुंच रही है। साथ ही शमशान के लिए भी अलर्ट जारी किया गया है।

नदी किनारे चिता की आग को बुझाकर ही लौटें ग्रामीण
भानपुर में कुआनों नदी के किनारे स्थित जंगलों को आग से बचाने के लिए वनक्षेत्राधिकारी रामनगर सोनल वर्मा ने ग्रामीणों को जागरूक करते हुए विशेष पहल की है। उन्होंने ग्रामीणों को कुआनों नदी के तट पर किए जा रहे शवों के अंतिम संस्कार के बाद चिता की आग को पूरी तरह बुझाकर ही घर लौटने के लिए प्रेरित किया है।

वन क्षेत्राधिकारी ने कहा कि मौजूदा समय में सीवानों में लग रही आग के मद्देनजर जंगलों के बीच गिरी सूखी पत्तियों व टहनियों को देखरेख करने वालों के माध्यम से बाहर निकालकर उसे दूर हटाया जा रहा है। सीओ फारेस्ट सोनल वर्मा ने बताया कि सुरक्षा के मद्देनजर आग से जंगलों को बचाने लिए वाचरों को कुआनों नदी के किनारे नियमित रूप से निगरानी करने का निर्देश दिया गया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Vnation के Facebook पेज को LikeTwitter पर Follow करना न भूलें...
Leave A Reply

Your email address will not be published.