भूकंप के तेज झटके से खुली नींद, दिल्ली-नोएडा, गाजियाबाद में घरों से बाहर निकले लोग

0 44

नोएडा: दिल्ली-एनसीआर में आधी रात को भीषण भूकंप देखने को मिला। कई लोगों को अपनी चारपाई अथवा बेड हिलते महसूस हुए तो वे उठ बैठे। यह भूकंप 10 सेकेंड लंबा था और जोरदार झटके अनुभव किए गए। रात को 1:57 बजे यह आया था। इस भूकंप के झटके उत्तर प्रदेश में भी तीव्रता से महसूस किए गए हैं। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में भी लोगों को नींद में ही झटके महसूस हुए तो उठकर बैठ गए। नेशनल सेंटर फॉर सेसमोलॉजी के मुताबिक भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 6.3 आंकी गई है, जिसका केंद्र नेपाल में धरती से करीब 10 किलोमीटर नीचे थे। इस भूकंप का असर चीन तक दिखा है।

दिल्ली-एनसीआर और यूपी के अलावा हरियाणा, पंजाब, चंडीगढ़, राजस्थान के पूर्वी हिस्सों में भी भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए हैं। इस भूकंप की तीव्रता इतनी ज्यादा थी कि लोग डर गए। कई लोगों ने सोशल मीडिया पर अपने घरों में पंखों और अन्य चीजों के तेजी से हिलने का वीडियो ट्वीट किया है। उत्तर भारत के कई राज्यों में भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं और लोग घरों से बाहर निकल आए। यही नहीं मणिपुर समेत पूर्वोत्तर भारत के भी कई राज्यों में भूकंप आया।

भूकंप के तुरंत बाद लोग जाग उठे और कई लोग तो ट्विटर पर पूछते दिखे कि क्या आपको भी भूकंप के झटके महसूस हुए हैं। बीते कई सालों में यह पहला मौका है, जब दिल्ली एनसीआर समेत बड़े इलाकों में भूकंप इतनी तीव्रता से महसूस किया गया है। फिलहाल किसी तरह के नुकसान की कोई खबर नहीं मिली है।

भूकंप आने पर क्या करना चाहिए और क्या नहीं

भूकंप आने पर अकसर ही हम घर से बाहर भागने की कोशिश करते हैं, लेकिन ऐसा तुरंत संभव नहीं हो पाता। ऐसे में भूकंप आने के बाद अगर आप घर में हैं तो कोशिश करें कि फर्श पर बैठ जाएं। पास में टेबल या फर्नीचर है तो उसके नीचे बैठकर हाथ से सिर को ढक लेना चाहिए। इस दौरान घर के अंदर ही रहें और बाहर न निकलें। बिजली के सभी स्विच को बंद कर देना चाहिए। आप घर से बाहर है तो कोशिश करें कि ऊंची इमारतों और बिजली के खंभों से दूर रहें। भूकंप के दौरान लिफ्ट का इस्तेमाल भी करने से बचें।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Vnation के Facebook पेज को LikeTwitter पर Follow करना न भूलें...
Leave A Reply

Your email address will not be published.