संसद के बाहर पीएम मोदी का संबोधन, बोले- पराजय का गुस्सा निकालने के बजाय संसद सत्र में सकारात्मकता के साथ आगे बढ़े विपक्ष

0 24

नई दिल्ली: संसद का शीतकालीन सत्र (Parliament Winter Session) शुरू होने से पहले पीएम नरेंद्र मोदी ने संसद के बाहर संबाेधित किया। पीएम मोदी ने रविवार यानी की 3 दिसंबर को आए चार राज्यों चुनाव परिणाम के बारे में बात की। साथ ही उन्होंने देश के उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संसद के बाहर कहा कि राजनैतिक गर्मी बड़ी तेजी से बढ़ रही है। कल चार राज्यों के चुनाव के नतीजे आए। नतीजे बहुत उत्साहजनक हैं – उन लोगों के लिए उत्साहजनक हैं जो आम लोगों के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध हैं। देश के उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाएं देता हूं।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को विपक्षी दलों से आग्रह किया कि संसद के शीतकालीन सत्र में वे, विधानसभा चुनावों में मिली पराजय का गुस्सा ना निकालें बल्कि उससे सीख लेते हुए नकारात्मकता को पीछे छोड़ें और सकारात्मक रूख के साथ आगे बढ़ें। सत्र के पहले दिन मीडिया को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि यदि विपक्षी दल ‘विरोध के लिए विरोध’ का तरीका छोड़ दें और देश हित में सकारात्मक चीजों में साथ दें तो देश के मन में उनके प्रति आज जो नफरत है, हो सकता है वह मोहब्बत में बदल जाए।

बता दें कि संसद का शीतकालीन सत्र आज यानी की चार दिसंबर से शुरू हो रहा है। 18 दिन तक चलेगा और 22 दिसंबर सत्र समाप्त होगा। सरकार ने संसद के शीतकालीन सत्र शुरू होने से दो दिन पहले यानी की 2 दिसंबर को सर्वदलीय बैठक (All-Party Meeting) बुलाई थी। बीजेपी सांसद बृज लाल और नीरज शेखर द्वारा ‘भारतीय न्याय संहिता, 2023′ पर 246वीं रिपोर्ट पेश करने की उम्मीद है। भारतीय नागरिक सुरक्षा संहिता, 2023’ पर 247वीं रिपोर्ट; और शीतकालीन सत्र के पहले दिन आज राज्यसभा में गृह मामलों पर विभाग-संबंधित संसदीय स्थायी समिति की ‘भारतीय साक्ष्य विधेयक, 2023’ पर 248वीं रिपोर्ट पेश की गई।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Vnation के Facebook पेज को LikeTwitter पर Follow करना न भूलें...
Leave A Reply

Your email address will not be published.