Priyanka Gandhi बुधवार को चित्रकूट में ‘लड़की हूं, लड़ सकती हूं’ संवाद में लेंगी भाग

0 1,071

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी बुधवार को चित्रकूट में महिलाओं के बीच “लड़की हूं, लड़ सकती हूं” संवाद के कार्यक्रम में भाग ले रही हैं. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में 40 प्रतिशत टिकट महिलाओं को देने का एलान कर प्रियंका गांधी ने बड़ा दांव खेला है. टिकट के अलावा प्रियंका गांधी ने महिलाओं के लिए बड़े-बड़े वादे भी किए हैं जिनको लेकर अलग से घोषणापत्र तैयार किया जा रहा है. प्रियंका के इस मिशन को धार देने के लिए यूपी कांग्रेस ने अगले 100 दिनों का एक्शन प्लान तैयार किया है. यूपी में करीब 7 करोड़ महिला वोटर हैं. कांग्रेस इनमें से 3 से 4 करोड़ महिला वोटरों तक पहुंचने के लिए बड़ा जनसंपर्क अभियान शुरु करने जा रही. इसके लिए साढ़े सात हजार युवा लड़कियों की “लड़की हूँ, लड़ सकती हूँ ब्रिगेड” तैयार की गई है. सूत्रों के मुताबिक यह ब्रिगेड अगले 100 दिनों में 4 करोड़ महिला वोटरों से 4 से 5 बार संपर्क करेगी.

महिलाओं के लिए प्रियंका गांधी ने अलग से घोषणपत्र तैयार किया है. इनमें से बड़े एलान वो कर चुकी हैं. जैसे महिलाओं को 40 फीसदी टिकट, कॉलेज जाने वाली युवतियों के लिए मोबाइल-स्कूटी, गृहणियों को साल में तीन सिलिंडर मुफ्त, सरकारी बसों में महिलाओं के लिए मुफ्त यात्रा, आशा और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को प्रतिमाह 10,000 रूपए का मानदेय, नए सरकारी पदों पर 40% महिलाओं की नियुक्ति, वृद्धा-विधवा पेंशन 1000 रुपए/प्रतिमाह देने जैसे वादे शामिल हैं.

इन्हीं वादों का फॉर्म और महिलाओं को उनकी भागीदारी बढाने के लिए प्रियंका गांधी का संदेश लेकर लड़की ब्रिगेड महिलाओं के बीच अभियान चलाएंगी. कांग्रेस ने एक करोड़ पिंक सिलिकॉन बैंड तैयार किया जो महिला वोटरों को पहनाया जाएगा इसके साथ ही करोड़ों आकर्षक स्टिकर तैयार किए गए हैं. अभियान के दौरान महिलाओं के खिलाफ अपराध की घटनाओं और मंहगाई के मुद्दे को भी उभारा जाएगा.

पिंक बैंड पर प्रियंका गांधी के हस्ताक्षर के साथ “लड़की हूं, लड़ सकती हूं” नारा लिखा रहेगा. सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस का आंतरिक सर्वे बताता है कि प्रियंका गांधी द्वारा दिया गया “लड़की हूं, लड़ सकती हूं” का नारा पूरे राज्य में युवतियों के बीच कम समय में काफी लोकप्रिय हुआ है.

 

यूपी में फिलहाल करीब 7 करोड़ महिला वोटर हैं. बीते विधानसभा चुनाव में करीब 4 करोड़ महिलाओं ने मतदान किया था. दिलचस्प यह है कि पुरुषों के 59% के मुकाबले महिलाओं का वोट 4 प्रतिशत ज्यादा यानी 63% था. बीते लोकसभा चुनाव में भी यूपी की महिलाओं ने पुरुषों के मुकाबले 1% अधिक वोट किया था. कांग्रेस के रणनीतिकारों के मुताबिक मतदान करने वाली महिला वोटरों में करीब 60 प्रतिशत की उम्र 18 से 35 के बीच है. इस 60% युवा वर्ग पर पार्टी की खास नजर है.

हर जिले से रोज की रिपोर्ट डिजिटल ऑपरेटर सेंट्रल कंट्रोल रूम को भेजेंगे. कंट्रोल रूम से डाटा कॉल सेंटर भेजा जाएगा. लखनऊ में कॉल सेंटर चल रहा है जहां से इन महिलाओं को व्हाट्सएप, फेसबुक से जोड़ा जाएगा और इसके जरिए उन्हें सोशल मीडिया कैम्पेन से जोड़ा जाएगा. 3 करोड़ महिला वोटरों तक कम से कम 5 बार पहुंचने का लक्ष्य है. यूपी की कुल 403 सीटों में कांग्रेस 100 सीटों पर खास फोकस कर रही है. सूत्रों के मुताबिक इन सीटों पर हर महिला से 10 बार संपर्क करने का लक्ष्य रखा गया है.

संपर्क अभियान के अलावा पूरे राज्य में कांग्रेस 100 टाउन हॉल यानी विशेष संवाद सभाएं आयोजित करेगी जिनमें से चित्रकूट की तरह दस टाउन हॉल को प्रियंका गांधी संबोधित करेंगी. अभियान को लोकप्रिय बनाने के लिए लड़कियों के लिए मैराथन आयोजित करने की भी योजना है जिसके विजेताओं को स्कूटी दी जाएगी. मॉल, लड़कियों की कॉलेज में प्रचार अभियान चलाया जाएगा. महिला डॉक्टरों, वकीलों जैसे 1000 महिला प्रोफेशनलों की इंफ्लूएनसर टीम बनाने और 5,000 मोबाइल यूनिट बनाने की भी योजना है. बेहतर काम करने वालों को पुरस्कृत करने का प्लान भी बनाया गया है.

बीते तीस सालों से यूपी की सोशल इंजीनियरिंग की परीक्षा में कांग्रेस पार्टी फेल होती रही है. कांग्रेस के साथ किसी भी जाति का बेस वोट नहीं है. ऐसे में महिलाओं के बीच प्रियंका गांधी की छवि को भुनाने के लिए चुनावी ब्लू प्रिंट तैयार किया गया है. कांग्रेस को लगता है कि अगर महिला कार्ड सफल रहा तो उसके नम्बरों में सुधार हो सकता है इसीलिए आधी आबादी तक पहुंचने के लिए कांग्रेस ने बड़े पैमाने पर योजना बनाई है.

 

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Vnation के Facebook पेज को LikeTwitter पर Follow करना न भूलें...
Leave A Reply

Your email address will not be published.