मूंगफली खाने वाले हो जाएं सावधान, फायदे के साथ हो सकता है बड़ा नुकसान

0 38

नई दिल्ली : मूंगफली को गरीबों का बादाम कहते हैं। जिसे लोग व्रत में तो खाते ही हैं। आम दिनों में भी चाय के साथ पोहा या उपमा के ऊपर टॉपिंग्स की तरह डालकर खाना पसंद करते हैं। अगर आपकी रोज वाली रूटीन में मूंगफली जरूरी हिस्सा है तो संभल जाएं। जरूरत से ज्याद मूंगफली काफी सारी बीमारियों को न्योता दे सकती है। अक्सर लोग मार्केट की रोस्टेड मूंगफली, चिक्की, पीनट बटर खाना पसंद करते हैं। वहीं घर पर भी व्रत में देसी घी में मूंगफली को भूनते हैं और खाते हैं। जिसकी वजह से मूंगफली सेहत के लिए फायदेमंद ना होकर हानिकारक बन जाती है और कई तरह की बीमारियों को जन्म देने लगती है।

सबसे बड़ी वजह मूंगफली की मात्रा है। हर चीज को दिनभर में कितनी मात्रा में खाना है ये तय होता है। जब हम तय मात्रा से ज्यादा कुछ भी खाते हैं तो वो शरीर को फायदे की बजाय नुकसान करना शुरू कर देती है। अक्सर मूंगफली के साथ भी ऐसा ही होता है। गरीबों का बादाम कही जाने वाली मूंगफली में बादाम जैसे जरूरी पोषण होते हैं। लेकिन इसे लोग बादाम जितनी मात्रा में ना खाकर दो मुट्ठी और तीन मुठ्ठी खा लेते हैं। जिससे ये नुकसान करने लगती है। आमतौर पर मूंगफली से कुछ लोगों को एलर्जी होती है। ऐसे लोगों को किसी भी हाल में मूंगफली नहीं खानी चाहिए। नहीं तो सांस रुकने, खुजली, जलन, सांस फूलने, गले में खराश जैसी समस्याएं होने लगती हैं।

अगर आप वजन घटाने के लिए मूंगफली खा रहे हैं तो जरूरी है कि बिल्कुल तय मात्रा में ही खाएं। इसमे पाया जाने वाला अनसैचुरेटेड फैट बॉडी में जमा होकर फैट बना सकता है। वहीं दिल की समस्या को भी बढ़ावा दे सकता है। रोजाना करीब 1 औंस रोस्टेड पीनट यानी कि मुट्ठीभर मूंगफली खानी चाहिए। एक मुट्ठीभर मूंगफली में 170 कैलोरी होती है। जिसे ज्यादा मात्रा में खाने से वजन बढ़ना तय है।

मूंगफली खाने से बहुत सारे लोगों को एलर्जी हो जाती है। जिसकी वजह से पेट में दर्द, डायरिया, उल्टी, ची मिचलाना, गले मे समस्या, सांस लेने में दिक्कत, हाइव्स जैसी समस्या होने लगती है।

कुछ लोगों को ज्यादा मूंगफली खाने की वजह से अस्पताल तक जाने की नौबत आ जाती है। मूंगफली खाने से एनाफिलेक्सिस की समस्या हो जाती है। जिसमे ब्लड प्रेशर कम होने लगता है, सांस की नलियां सिकुड़ने लगती है जिसकी वजह से सांस नहीं आ पाती, चक्कर और बेहोशी आने लगती है।

अगर आप मार्केट में मिलने वाली रोस्टेड और सॉल्टेड पीनट खाते हैं तो इसमे नमक की मात्रा काफी ज्यादा होती है। जो शरीर में सोडियम की मात्रा बढ़ा देती हैं और हाई ब्लड प्रेशर का खतरा बढ़ा देती है। बेहतर है कि आप घर में भूनी मूंगफली खाएं।

मूंगफली में फास्फोरस की मात्रा काफी ज्यादा होती है। जो शरीर में फाइटिक एसिड के रूप में बॉडी में स्टोर होती है। जब मूंगफली को ज्यादा खाते हैं तो शरीर में फाइटिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है तो वो दूसरे मिनरल्स आयरन, जिंक, कैल्शियम और मैगनीज के अवशोषण को रोक देता है। जिससे शरीर में दूसरे पौष्टिक तत्वों की कमी हो जाती है।

मूंगफली में बहुत सारे पौष्टिक तत्व होते हैं। जिनमे प्रोटीन, फैट, फाइबर, मिनरल्स शामिल हैं। इसे रोजाना केवल एक मुठ्ठी खाना ही फायदेमंद है। खासतौर पर गर्मियों में इसे ज्यादा ना खाएं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Vnation के Facebook पेज को LikeTwitter पर Follow करना न भूलें...
Leave A Reply

Your email address will not be published.