भूखे पेट नामीबिया से भारत की यात्रा करेंगे अफ्रीकी चीते, जानिए वजह

0 63

ग्‍वालियर। मध्य प्रदेश के कुनो नेशनल पार्क (Kuno National Park MP) में इस हफ्ते नामीबिया से 8 चीते आने वाले हैं, जिन्‍हें 17 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने जन्‍मदिन (Prime Minister Narendra Modi on his birthday) पर पार्क में छोड़ेंगे। वन विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने मंगलवार को बताया कि नामीबिया (Namibia) से लेकर भारत तक की यात्रा ये चीते खाली पेट (cheetah empty stomach) करेंगे। इन चीतों को कार्गो एयरक्राफ्ट (cargo aircraft) से लाया जाएगा।

मध्य प्रदेश के मुख्य वन संरक्षक जेएस चौहान ने बताया कि एहतियात के तौर पर यह अनिवार्य है कि यात्रा के दौरान जानवर को खाली पेट रखा जाए। उन्होंने बताया कि चीतों को नामीबिया से जयपुर लाया जाएगा उसके बाद उन्हें कुनो नेशनल पार्क में पहुंचाया जाएगा। इस दौरान उन्हें खाली पेट रखा जाएगा। उन्होंने बताया कि यह सावधानी इसलिए बरती जा रही है क्योंकि लंबी यात्रा के दौरान जानवरों को मतली जैसी समस्या हो सकती है।
यह भी पढ़ें | भारत-चीन के एजेंट ट्विटर के लिए कर रहे थे काम, व्हिसलब्लोअर का दावा

आपको बता दें कि अफ्रीका से भारत चीते आने में कम ही समय रह गया है। वन विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इस हफ्ते के अंत में नामीबिया से 8 चीते मध्य प्रदेश के कुनो-पालपुर नेशनल पार्क पहुंचेंगे। राष्ट्रीय उद्यान में वायुमार्ग से पहुंचने वाले चीतों को अपनी पूरी यात्रा के दौरान खाली पेट बिताना होगा। यात्रा शुरू करते समय किसी जानवर का पेट खाली होना चाहिए, क्योंकि लंबी यात्रा से जानवरों में जी मचलाने की समस्या पैदा हो सकती हैं जिससे अन्य जटिलताएं पैदा हो सकती हैं।
बताया जा रहा है कि कार्गो विमान 17 सितंबर को सुबह छह बजे से सात बजे के बीच जयपुर हवाईअड्डे पर उतरेगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उसी दिन अपने जन्मदिन के मौके पर इन चीतों में से तीन चीतों को चीता प्रतिस्थापन परियोजना के तहत इस उद्यान में बनाए गए विशेष बाड़े में छोड़ेंगे। चीतों को 1952 में भारत से विलुप्त घोषित किया गया था।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Vnation के Facebook पेज को LikeTwitter पर Follow करना न भूलें...
Leave A Reply

Your email address will not be published.