अयोध्या की गोसाईगंज विधान सभा सीट चुनाव में हमेशा बनी रहती चर्चा का बिषय

0 150

अयोध्या की गोसाईगंज विधान सभा इन दिनों काफी सुर्खियों में है,क्योकि आमने सामने है दो बाहुबली प्रत्याशी ,भारतीय जनता पार्टी के पूर्व बाहुबली विधायक खब्बू तिवारी की पत्नी आरती तिवारी और समाजवादी पार्टी के पूर्व बाहुबली विधायक अभय सिंह का मुख्य मुकाबला है .कुछ दिनों पहले अभय सिंह ने जेल प्रशासन और जिला प्रशासन की मिलीभगत से खब्बू तिवारी द्वारा जेल से चुनाव प्रभावित करने का आरोप लगाया था . इसके बाद का घटनाक्रम हिंसक रूप लेता गया .

दो दिन पहले आरोप लगा की भाजपा समर्थित ग्राम प्रधान श्याम दुबे की गाड़ी को अभय सिंह और उनके समर्थको द्वारा नुकसान पहुचाया गया . ताज़ा घटनाकर्म में बाहुबली अभय सिंह के चुनावी काफिले का सामना हुआ भाजपा समर्थक बाहुबली विकास सिंह के काफिले से ,दोनों पक्षों के द्वारा तोड़फोड़ और हिंसा का आरोप लगा ,खूब हंगामा हुआ , अभय सिंह पर चुनाव आचारसंहिता और हिंसा की धाराओं में केस दर्ज हुआ और उनकी गाड़िया भी सीज की गई .

अभय सिंह के पिता भगवान बक्श सिंह ने 70 के दशक की इमरजेंसी से तुलना करते हुए पुलिस द्वारा पक्षपात पूर्ण रवैये का आरोप लगाया . अभी तो सिर्फ चुनाव की शुरुआत हुई है,गोसाईगंज विधान सभा सीट पर सियासी पारा अभी और चढ़ेगा . किसी थिलर फिल्म की तरह यहाँ अभी और एक्शन चुनावी दावपेच ,साजिश और इमोशन देखने को मिल सकता है !

गोसाईगंज सीट अति संवेदनशील सीट है यहाँ का एक का तपिश भरा इतिहास रहा है . 2012 में सपा की टिकट पर अभय सिंह ने बसपा के टिकट पर लड़ रहे खब्बू तिवारी को 60000 वोटो के अंतर से हराया था ! 2017 में भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ते हुए खब्बू तिवारी ने अभय सिंह को लगभग 11000 वोटो के अंतर से हराया था ,पर 2022 चुनाव के कुछ महीने पहले ही खब्बू तिवारी को फर्जी डिग्री मामले में जेल होने के कारण भाजपा ने खब्बू तिवारी की पत्नी आरती तिवारी को टिकट दिया !

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Vnation के Facebook पेज को LikeTwitter पर Follow करना न भूलें...
Leave A Reply

Your email address will not be published.