Google, Apple और Amazon जैसी बड़ी कंपनियों ने निकालें 70000 से अधिक कर्मचारी

0 44

नई दिल्ली : महामारी के दौर में कंपनियों ने हजारों कर्मचारियों को निकाला था, मगर ये सिलसिला अभी खत्म नहीं हुआ है। अप्रैल 2024 में दुनिया की कुछ सबसे बड़ी कंपनियों में बड़े पैमाने पर छंटनी की है, जिसमें टेस्ला (Tesla), गूगल (Google) और एपल (Apple) जैसे तकनीकी कंपनियां शामिल है। इन कंपनियों ने हजारों नौकरियों में कटौती की है। इस वित्त वर्ष में अब तक टेक सेक्टर में 70,000 से ज्यादा लोगों की नौकरियां जा चुकी हैं।

रिपोर्ट में बताया गया कि Apple ने 614 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया, जो महामारी शुरू होने के बाद से नौकरी में पहली बड़ी कटौती है। जानकारी मिली है कि प्रभावित कर्मचारी एपल के विशेष प्रोजेक्ट ग्रुप का हिस्सा थे, जिनमें से कुछ अब रद्द हो चुकी सेल्फ-ड्राइविंग कार प्रोजेक्ट पर काम कर रहे थे। यह संख्या और भी अधिक हो सकती है, क्योंकि विदेशों में काम करने वाले कुछ कर्मचारियों ने भी अपनी नौकरी खो दी है।

वहीं Google ने Python, फ्लटर और डार्ट टीमों में बहुत सारे कर्मचारियों की छंटनी कर दी है। Google के एक प्रवक्ता ने कहा कि नौकरी में कटौती पुनर्गठन का हिस्सा है और कर्मचारियों के पास कंपनी के अन्य ओपन वैकेंसी के लिए आवेदन करने का विकल्प है।

इसके अलावा अमेजन अपने क्लाउड कंप्यूटिंग डिवीजन में सैकड़ों नौकरियों में कटौती कर रहा है, जिससे ब्रिक-एंड-मोर्टार स्टोर्स के लिए सेल ,मार्केटिंग और टेक्नोलॉजी टीमें प्रभावित हो रही हैं। इंटेल ने भी कैलिफोर्निया के सांता क्लारा स्थित अपने मुख्यालय से लगभग 62 कर्मचारियों की छंटनी की है। कंपनी ने क्रिस्टोफ शेल के नेतृत्व में पुनर्गठन के हिस्से के रूप में सेल और मार्केटिंग ग्रुप में छंटनी का एक नया दौर शुरू किया।

Google की कई टीमों के कर्मचारी जिनमें इसके रियल एस्टेट और फाइनेंस डिपार्टमेंट भी शामिल हैं, पिछले महीने एक अलग छंटनी से प्रभावित हुए थे क्योंकि इसने अपनी लागत कम कर दी थी। प्रभावित कर्मचारी अन्य आंतरिक भूमिकाओं के लिए आवेदन कर सकते हैं। कुछ भूमिकाएं उन केन्द्रों में चले जाएंगी, जिनमें कंपनी निवेश कर रही है, जिनमें भारत, शिकागो, अटलांटा और डबलिन शामिल हैं।

अमेजन वेब सर्विसेज (AWS) ने अप्रैल में बिक्री, मार्केटिंग और तकनीकी भूमिकाओं वाले कर्मचारियों सहित कई सौ नौकरियों में कटौती की। इसके अलावा फंडिंग संकट और निवेशकों के बीच अशांति के कारण एडटेक कंपनी बायजू ने लगभग 500 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया, जो उसके वर्कफोर्स का लगभग 3% है।

इसके एलन मस्क की इलेक्ट्रिक विहिकल निर्माता कंपनी भी अछूती नहीं रही है। आपको बता दें कि टेस्ला ने कई डिवीजनों में हजारों कर्मचारियों को बर्खास्त कर दिया। ओला कैब्स अपने लगभग 10% कार्यबल यानी 200 कर्मचारियों की छंटनी कर रही है। ओला कैब्स के सीईओ हेमंत बख्शी ने पद संभालने के चार महीने बाद ही इस्तीफा दे दिया। इसके अलावा व्हर्लपूल ने अपने लागत-कटौती प्रयासों के तहत वैश्विक स्तर पर लगभग 1,000 वेतनभोगी कर्मचारियों को निकाल दिया।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Vnation के Facebook पेज को LikeTwitter पर Follow करना न भूलें...
Leave A Reply

Your email address will not be published.