पंजाब में रची जा रही बड़ी साजिश! ‘बेअदबी’ के मामलों को लेकर केंद्र ने पंजाब सरकार को किया अलर्ट

0 44

पंजाब के अमृतसर के स्वर्ण मंदिर और कपूरथला के एक गुरुद्वारे में कथित बेअदबी (Sacrilege Case) को लेकर दो लोगों की हत्या के बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय ने पंजाब सरकार को अलर्ट जारी किया है. सूत्रों के मुताबिक, केंद्र सरकार ने पंजाब के तमाम धार्मिक स्थलों, डेरों, मंदिरों, गुरुद्वारों और अन्य सभी धर्मों के धार्मिक स्थलों पर सुरक्षा बढ़ाने का निर्देश दिया है. गृह मंत्रालय ने अलर्ट किया है कि पंजाब में धार्मिक भावनाओं को भड़काने की नापाक योजना “देश विरोधी” तत्वों द्वारा की जा रही है.

इस इनपुट के बाद पंजाब सरकार ने सभी धार्मिक स्थलों की सुरक्षा चाक चौबंद कर दी है. मंदिरों से लेकर गुरुद्वारों में सीसीटीवी कैमरों को लगाने और गांव स्तर पर सरपंचों तक को आगाह करना शुरू दिया गया है. सरकार ने निर्देश दिया है कि अगर कोई शरारती तत्व गांव या धार्मिक स्थलों के आसपास दिखाई देता है तो उसकी सूचना तत्काल पुलिस को दें.

सूत्रों के मुताबिक, पंजाब में दंगे भड़काने और धार्मिक सद्भाव बिगाड़ने के लिए किसी भी धार्मिक स्थल पर बेअदबी या अन्य घटना करके माहौल बिगाड़ने की साजिश हो सकती है. इसी कारण केंद्र सरकार की ओर से धार्मिक स्थलों पर पंजाब पुलिस को सुरक्षा बढ़ाने और नजर रखने के निर्देश जारी किए गए हैं.

सूत्रों के मुताबिक, पंजाब में दंगे भड़काने और धार्मिक सद्भाव बिगाड़ने के लिए किसी भी धार्मिक स्थल पर बेअदबी या अन्य घटना करके माहौल बिगाड़ने की साजिश हो सकती है. इसी कारण केंद्र सरकार की ओर से धार्मिक स्थलों पर पंजाब पुलिस को सुरक्षा बढ़ाने और नजर रखने के निर्देश जारी किए गए हैं.

मुख्यमंत्री ने कहा कि वह कथित बेअदबी के प्रयास से बहुत आहत हैं, जो दुर्भाग्यपूर्ण है और इसकी निंदा की जानी चाहिए. उन्होंने कहा कि अगर कोई गलत इरादे से आया है तो खुफिया एजेंसियां उन्हें पकड़ने और बेनकाब करने की कोशिश करेंगी. उन्होंने कहा, “हम घटना की तह तक जाएंगे. सरकार मामले की गहन जांच के लिए प्रतिबद्ध है ताकि इस कृत्य के पीछे के असली साजिशकर्ताओं का पर्दाफाश हो सके.”

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Vnation के Facebook पेज को LikeTwitter पर Follow करना न भूलें...
Leave A Reply

Your email address will not be published.