चंडीगढ़ विवि न किसी ने सुसाइड की कोशिश की, न ही किसी की जान गई- एसएसपी

0 136

चंडीगढ़। पंजाब की चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी (CU) की छात्राओं के नहाते समय का वीडियो वायरल होने पर बवाल मच गया है। इस मामले पर विश्वविद्यालय के छात्रों ने शनिवार रात जमकर विरोध-प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारी छात्रों ने इस घटना से संबंधित लोगों की जान जाने और घायल होने का आरोप लगाया है। वहीं, मोहाली के एसएसपी विवेक शील सोनी ने इस मामले में किसी मौत के दावे से इनकार किया है।

मोहाली के एसएसपी विवेक शील सोनी ने कहा, ‘कल शाम एक मामला सामने आया था कि एक लड़की ने वीडियो बनाया था। बाद में अफवाह फैली की और भी वीडियो बनाए गए हैं। इसके लिए यहां के कुछ छात्रों ने प्रदर्शन किया। मामले में FIR लिखी गई है। आरोपियों को पकड़ा जा चुका है। यहां पर किसी की मृत्यु नहीं हुई है।’

फोरेंसिक सबूत इकट्ठा किए जा रहे

एसएसपी ने सुसाइड की कोशिश के दावे को भी गलत बताया है। उन्होंने कहा, ‘छात्रों के मेडिकल रिकॉर्ड्स हासिल कर लिए गए हैं। मेडिकल रिकॉर्ड्स के मुताबिक, किसी ने भी सुसाइड की कोशिश नहीं की है। फोरेंसिक सबूत इकट्ठा किए जा रहे हैं। लोगों को अफवाहों पर ध्यान नहीं देना चाहिए।

जो वीडियो है वो उसकी खुद की है

SSP ने कहा, ‘अब हम मामले में विस्तृत जांच कर रहे हैं। हमारे पास जो भी जानकारी और वीडियो है उसकी फोरेंसिक जांच करवा रहे हैं। हमने अभी तक जो जांच की है, उसमें यह बात साफ आती है कि जो वीडियो है वो उसकी खुद की है, उसके अलावा किसी और की कोई वीडियो नहीं है।’

पंजाब के स्कूल शिक्षा मंत्री हरजोत सिंह बैंस ने चंडीगढ़ विश्वविद्यालय के छात्रों से शांत रहने की अपील की है और उन्हें आश्वासन दिया है कि दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा।

ये गहन जांच का विषय: महिला आयोग

इस मामले पर पंजाब राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष मनीषा गुलाटी का भी बयान आया है। गुलाटी ने कहा, ‘यह गंभीर मामला है, यह बहुत दुखद है। इस मामले की जांच की जा रही है। मैं यहां सभी छात्रों के माता-पिता को आश्वस्त करने के लिए हूं कि आरोपी को बख्शा नहीं जाएगा।’

जिस लड़की ने ये वीडियो वायरल किया, उस पर अधिकारियों ने तत्काल कार्रवाई करते हुए धारा 354(C) आईटी के तहत मामला दर्ज कर लिया है। कड़ी कार्रवाई होगी।

गुलाटी ने कहा अगर ये सब पहले से चल रहा था तो मैं आपको आश्वासन देती हूं कि ये गहन जांच का विषय है और इस मामले पर मेरी नजर रहेगी। इस मामले में झूठ फैलाया गया कि कुछ बच्चियों ने आत्महत्या कर ली है। ये सब अफवाह है, न किसी बच्ची ने आत्महत्या किया है और न ही कोई अस्पताल में है।’

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Vnation के Facebook पेज को LikeTwitter पर Follow करना न भूलें...
Leave A Reply

Your email address will not be published.