चरणजीत सिंह चन्नी के बचाव में उतरी कांग्रेस, कहा- दलित सीएम को निशाना बना रही है बीजेपी

0 171

बुधवार को हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने कई मुद्दों को लेकर केंद्र पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि पंजाब में हमेशा दिल्ली को मुंहतोड़ जवाब दिया है चाहे फिर वह मुगल मुगलों का समय हो या अभी का। आगे उन्होंने कहा कि चुनाव के समय केंद्र उंगली टेढ़ी कर चुनाव जीतना चाहता है तभी चुनाव के समय सरकार ईडी समेत अन्य एजेंसियों का मिस यूज करती है। इससे पहले बंगाल चुनाव के समय ममता बनर्जी के रिश्तेदारों के घरेलू भेजी गई और प्रेशर बनाया गया और ऐसे ही तमिलनाडु में स्टालिन और महाराष्ट्र में शरद पवार के परिजनों पर फर्जी कार्यवाही की गई।
इससे हटकर उन्होंने पीएम मोदी की सुरक्षा मामले पर भी बात की और कहा- पंजाबियों को क्यों बदनाम किया जा रहा है? “जान बचाकर आया हूं” ऐसा बोल कर किसानों को बदनाम क्यों किया जा रहा है? राष्ट्रपति शासन लगाने की कोशिश की गई पर नहीं लगा पाए। फिरोजपुर में पीएम की रैली में लोग नहीं आए, उन्हें वापस लौटना पड़ा तो मेरे से इसका क्यों बदला लिया जा रहा है?

मंगलवार को अवैध रेत खनन मामले को लेकर पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के करीबी रिश्तेदार हनी के ठिकाने पर प्रवर्तन निदेशालय ने छापेमारी की थी. इस मामले पर चन्नी ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा, केजरीवाल बड़े खुश हैं कि ईडी का छापा पड़ा है. केजरीवाल के खुद के रिश्तेदार भी भ्रष्टाचार के मामलों में जेल गए हैं. 2018 में केजरीवाल के साले के बेटे को गिरफ्तार किया गया था और आज वह खुश हो रहे हैं. उस समय केजरीवाल कह रहे थे कि यह राजनीतिक बदला है.

चन्नी ने कहा कि 2018 में 26 लोगों के खिलाफ FIR दर्ज हुई थी. इसमें मेरे भांजे का नाम नहीं है. मुझे फंसाने के लिए उसके यहां छापा पड़ा. 24 घंटे पूछताछ की गई. जब मेरे खिलाफ सबूत नहीं मिला तो जाते हुए कहा कि PM के लौटने वाली बात याद रखना. सारी रात कोर्ट खुलवा कर रखा गया. ये मेरे खिलाफ साजिश है. चन्नी ने आगे कहा, मैंने तीन बार चुनाव जीता. नेता विपक्ष रहा. आज तक मेरे पर कोई दाग नहीं है. इसलिए दाग लगाना चाहते हैं.  मेरा नाम FIR में जोड़ने का दबाव बनाया जा रहा है. छापा मारने वाली टीम ने ये भी कहा कि चुनाव नहीं लड़ने देंगे. पीएम मोदी पर सीधा हमला बोलते हुए चन्नी ने कहा, प्रधानमंत्री दबाने की कोशिश कर रहे हैं. मेरा भांजा आजकल कहां हैमुझे तो यह भी नहीं पता. यह केस 2018 में दर्ज हुआ था, तब कैप्टन अमरिंदर सीएम थे. यह कदम मुझे परेशान करने के लिए यह टाइम चुना गया.
नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Vnation के Facebook पेज को LikeTwitter पर Follow करना न भूलें...
Leave A Reply

Your email address will not be published.