देहरादून अंकिता हत्याकांड – मुख्य आरोपी पुलकित की फैक्ट्री में लगाई गई आग

0 62

देहरादून । अंकिता भंडारी हत्याकांड मामले में जहां पूरे प्रदेश की जनता में आक्रोश व्याप्त है, तो वहीं विपक्ष भी अब इस मामले को लेकर सरकार को घेरने में लगा है। विपक्ष ने यहां सरकार का पुतला फूंका और अंकिता के हत्यारों को सख्त सजा की मांग की है। कल जहां एक तरफ लोगों ने आरोपी पुलकित आर्य के रिसोर्ट में तोड़फोड़ की थी तो वहीं आज उसकी फैक्ट्री में भी आग लगा दी गई। इन सब के बीच प्रदेश के मुखिया पुष्कर सिंह धामी ने भी सख्त संदेश देते हुए कल देर रात जहां आरोपी पुलकित आर्य के वन्तरा रिसोर्ट पर बुलडोजर चलवाया, तो वहीं पुलकित के पिता विनोद आर्य और छोटे भाई अंकित आर्य को पार्टी से हटा दिया गया है। अंकित आर्य को पिछड़ा वर्ग आयोग के उपाध्यक्ष पद से हटाया गया है। अंकित आर्य को मुख्यमंत्री ने ओबीसी आयोग पद से बर्खास्त कर दिया है।

अंकिता भंडारी मामले पर विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूड़ी भूषण ने भी गहरा शोक व्यक्त किया है। विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि मानवता को शर्मसार करने वाली यह घटना हृदय विदारक है। उन्होंने इस घटना में संलिप्त सभी आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा देने की बात कही है। उन्होंने कहा कि इस घटना में फास्ट ट्रैकिंग कार्रवाई होगी। विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूड़ी भूषण ने कहा कि आज हमने उत्तराखंड की एक बेटी को खोया है, जिसके लिए सभी दुखी हैं। उन्होंने दिवंगत आत्मा की शांति की प्रार्थना करते हुए शोक संतप्त परिजनों के प्रति अपनी सांत्वना व्यक्त की है। विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश सरकार एवं वह खुद बेटी के परिवारजनों के साथ हैं। दोषियों को सजा देकर न्याय जरूर मिलेगा।

उन्होंने कहा कि उत्तराखंड का समाज इस प्रकार की घटना को कतई बर्दाश्त नहीं करेगा। अब हमें इस ओर सोचने की आवश्यकता है कि राजस्व पुलिस प्रदेश में कितनी कारगर है। क्या राजस्व पुलिस को पुलिसिंग के अधिकार दिए जाने चाहिए? इसके साथ ही विधानसभा अध्यक्ष ने कहा है कि सभी अवैध रिजॉर्ट की जांच के लिए कड़े निर्णय लिए जाने की आवश्यकता है।

अंकिता भंडारी मर्डर केस मामले में पूरे प्रदेश में लोगों में खासा आक्रोश है। अंकिता के हत्यारों पुलकित आर्य और उसके 2 साथियों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। वहीं शव मिलने के बाद लोग आरोपियों को फांसी की मांग कर रहे हैं। वहीं अंकिता भंडारी की हत्या के आरोपियों को फांसी की मांग कर रहे लोग एम्स पहुंचे। वहां पर स्थानीय विधायक रेनू बिष्ट की गाड़ी में आक्रोशित भीड़ ने तोड़फोड़ की। वहीं माहौल खराब होता देख विधायक वहां से निकल गईं।

नगर निगम और राजस्व विभाग की टीम पुलकित आर्य के घर पुहंची है। जिसके बाद पूर्व राज्य मंत्री विनोद आर्य ने कहा कि हम प्रशासन को पूरा सहयोग देंगे। नगर निगम और राजस्व विभाग की टीम पुलकित आर्य के घर का जायजा ले रही है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Vnation के Facebook पेज को LikeTwitter पर Follow करना न भूलें...
Leave A Reply

Your email address will not be published.