कल मांड्या और हुबली-धारवाड़ का दौरा करेंगे PM मोदी, राष्ट्र को समर्पित करेंगे बेंगलुरु-मैसूर एक्सप्रेसवे

0 104

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी रविवार को कर्नाटक में लगभग 16,000 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास करेंगे। प्रधानमंत्री मोदी ने शनिवार को सिलसिलेवार ट्वीट कर कहा, “मैं मांड्या और हुबली-धारवाड़ में कार्यक्रमों में भाग लेने के लिए कल (12 मार्च को) कर्नाटक में रहूंगा। 16 हजार करोड़ के विकास कार्यों का लोकार्पण व शिलान्यास होगा।” उन्होंने कहा कि मांड्या से कल बेंगलुरु-मैसूर एक्सप्रेसवे राष्ट्र को समर्पित किया जाएगा। मैसूरु-कुशलनगर राजमार्ग की आधारशिला भी रखी जाएगी। ये परियोजनाएं कनेक्टिविटी और सामाजिक-आर्थिक विकास को बढ़ावा देंगी।

प्रधानमंत्री ने एक अन्य ट्वीट में कहा, “हुबली-धारवाड़ में विकास कार्य विभिन्न क्षेत्रों को कवर करते हैं। आईआईटी धारवाड़ और श्री सिद्धारूढ़ स्वामीजी हुबली स्टेशन पर दुनिया के सबसे लंबे रेलवे प्लेटफॉर्म जैसी परियोजनाओं को राष्ट्र को समर्पित किया जाएगा। जलापूर्ति योजना का शिलान्यास किया जाएगा।”

प्रधानमंत्री कार्यालय के अनुसार, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 12 मार्च को कर्नाटक के मांड्या में दोपहर करीब 12 बजे प्रमुख सड़क परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास करेंगे। इसके बाद, लगभग 3:15 बजे, वे हुबली-धारवाड़ में विभिन्न विकास पहलों का उद्घाटन और शिलान्यास करेंगे।

प्रधानमंत्री मोदी, बेंगलुरु-मैसूरु एक्सप्रेसवे राष्ट्र को समर्पित करेंगे। इस परियोजना में एनएच-275 के बेंगलुरु-निदाघट्टा-मैसूर खंड को 6 लेन का बनाना शामिल है। 118 किलोमीटर लंबी सड़क के निर्माण से जुड़ी इस परियोजना को लगभग 8480 करोड़ रुपये की कुल लागत से विकसित किया गया है। इससे बेंगलुरु और मैसूरु के बीच यात्रा-अवधि लगभग 3 घंटे से घटकर करीब 75 मिनट रह जायेगी।

प्रधानमंत्री मैसूरु-खुशालनगर 4 लेन राजमार्ग की आधारशिला भी रखेंगे। 92 किलोमीटर में फैली इस परियोजना को करीब 4130 करोड़ रुपये की लागत से विकसित किया जाएगा। यह परियोजना बेंगलुरु के साथ खुशालनगर के परिवहन संपर्क को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी और यात्रा-अवधि को लगभग 5 से घटाकर केवल 2.5 घंटे करने में मदद करेगी।

प्रधानमंत्री राष्ट्र को आईआईटी धारवाड़ समर्पित करेंगे। स्वयं प्रधानमंत्री ने फरवरी 2019 में संस्थान की आधारशिला रखी थी। 850 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से विकसित किया गया यह संस्थान, वर्तमान में 4 वर्षीय बी.टेक कार्यक्रम, अंतर-अनुशासनात्मक 5-वर्षीय बीएस-एमएस कार्यक्रम, एम.टेक और पीएच.डी. की उपाधि देता है।

इसके साथ ही प्रधानमंत्री श्री सिद्धारूढ़ स्वामीजी हुबली स्टेशन पर दुनिया के सबसे लंबे रेलवे प्लेटफॉर्म का लोकार्पण करेंगे। इस रिकॉर्ड को हाल ही में गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स द्वारा मान्यता दी गई है। 1507 मीटर लंबे इस प्लेटफॉर्म को लगभग 20 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित किया गया है।

प्रधानमंत्री इस क्षेत्र में कनेक्टिविटी को बढ़ावा देने के लिए होसपेटे-हुबली-तीनाईघाट खंड के विद्युतीकरण और आधुनिक होसपेटे स्टेशन का लोकार्पण करेंगे। इसे 530 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से विकसित किया गया है।

प्रधानमंत्री हुबली-धारवाड़ स्मार्ट सिटी की विभिन्न परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास करेंगे। इन परियोजनाओं की कुल अनुमानित लागत लगभग 520 करोड़ रुपये है। प्रधानमंत्री जयदेव अस्पताल और शोध केंद्र की आधारशिला भी रखेंगे। करीब 250 करोड़ रुपये की लागत से अस्पताल को विकसित किया जाएगा। इस क्षेत्र में जल आपूर्ति को और बढ़ाने के लिए, प्रधानमंत्री धारवाड़ बहु-ग्राम जलापूर्ति योजना की आधारशिला रखेंगे, जिसे 1040 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से विकसित किया जाएगा। वे तुप्पारीहल्ला बाढ़ क्षति नियंत्रण परियोजना की आधारशिला भी रखेंगे, जिसे लगभग 150 करोड़ रुपये की लागत से विकसित किया जाएगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Vnation के Facebook पेज को LikeTwitter पर Follow करना न भूलें...
Leave A Reply

Your email address will not be published.