PUNJAB ELECTION RESULT : आम आदमी पार्टी की लहर में ढह गए पंजाब के कई राजनितिक दिगज्ज !

1 134

PUNJAB ELECTION RESULT : देश के पांच राज्यों के 10 मार्च को आए चुनावी नतीजों में सबसे बड़ी जीत पंजाब (Punjab) में आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) को मिली. यहां आम आदमी पार्टी ने 117 में 92 सीटें हासिल करते हुए ऐतिहासिक जीत दर्ज की. वहीं अब पूर्ण बहुमत मिलने के बाद सरकार बनाने का तैयारियों में जुट गई है. जिसको लेकर आम आदमी पार्टी के भगवंत मान पंजाब में जीत कर आए सभी विधायकों के साथ बैठक कि . इसके बाद 13 मार्च को वह जनता को धन्यवाद करने के लिए रोड शो करेगें . पजांब में 16 मार्च को शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन किया जाएगा .

Also Read:-UP RESULT 2022 : सत्यपाल मलिक ने कहा यदि मांगें नहीं मानी गईं तो किसान आंदोलन फिर से शुरू होगा

पंजाब में प्रचंड बहुमत के साथ सामने आया. आम आदमी पार्टी ने कई मिथकों को तोड़ दिया है। आप कि सुनामी में प्रदेश के तीनों मुख्यमंत्री और दिग्गज नेताओं की साख भूसे की तरह उड़ गई है. कांग्रेस के वर्तमान मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी, पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और अकाली दल के शीर्ष नेता और लंबे समय से मुख्यमंत्री रहे प्रकाश बादल को हार का सामना करना पड़ा है. इन तीनों नेताओं को आम आदमी पार्टी के घर के ऐसे उम्मीदवारों ने हरा दिया जिन्हे चुनावी पंडितों ने प्रतियोगिता से बाहर माना था

Also Read:- Jammu and Kashmir : जम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों द्वारा चार आतंकियों के मारे जाने की खबर

दरअसल पंजाब में आम आदमी पार्टी ने अन्य दलों की उम्मीदों पर झाड़ू चला दी है. आम आदमी पार्टी ने कांग्रेस और अकाली दल-बसपा गठबंधन को पछाड़ते हुए 117 में से 92 सीटें जीतकर प्रचंड बहुमत का परचम लहरा दिया. वहीं आम आदमी पार्टी पहली बार दिल्ली के बाद किसी दूसरे राज्य में सरकार बनाने जी रही है.

2022 के इस पंजाब विधानसभा चुनाव में बड़े-बड़े राजनीतिक दिग्गजों के किले आम आदमी पार्टी की लहर में ढह गए. इसमें मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी, प्रकाश सिंह बादल, सुखबीर सिंह बादल, नवजोत सिंह सिद्धू और अमरिंदर सिंह सहित कई दिग्गज शामिल हैं. इस चुनाव में आम आदमी पार्टी को को 92 सीटें मिलीं हैं.

वहीं कांग्रेस को 18, शिरोमणि अकाली दल को तीन, बीजेपी को दो और बसपा को सिर्फ एक सीट पर संतोष करना पड़ा है. AAP ने 2017 में पंजाब की 117 में से 20 सीटें हासिल की थीं, वह कांग्रेस से काफी पीछे थी, तब कांग्रेस ने 77 सीटें जीती थीं. पंजाब राज्य विधानसभा में बहुमत हासिल करने के लिए कुल 59 सीटों की जरूरत होती है.

रिर्पोट – कोमल कशिश

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Vnation के Facebook पेज को LikeTwitter पर Follow करना न भूलें...
Leave A Reply

Your email address will not be published.