उपभोक्ताओं की परेशानियों के प्रति संवेदनशीलता दिखानी होगी, इसमें अब काम चलाऊ व टालने की कार्य संस्कृत नहीं चलेगी: ऊर्जा मंत्री

0 233

लखनऊ: प्रदेश के ऊर्जा मंत्री एके शर्मा ने आज शक्ति भवन में ‘‘सम्भव‘‘ पोर्टल पर आई जनशिकायतों की वर्चुअल सुनवाई की। इस दौरान उन्होंने सभी शिकायतकर्ताओं, प्रबंध निदेशकों एवं मुख्य अभियंताओं से वर्चुअल संवाद कर शिकायतों की वास्तविकता जानी और मौके पर ही 20 शिकायतों का निस्तारण किया। सुनवाई के दौरान उन्होंने मध्यांचल विद्युत वितरण निगम के तहत उन्नाव जिले के निवासी श्री दिलीप कुमार त्रिपाठी की निजी नलकूप संयोजन की शिकायत के प्रकरण को अधिकारियों द्वारा की गई, लापरवाही, उत्पीड़नात्मक रवैया को गंभीरता से लेते हुए दिनेश कुमार मौर्य (अधिशासी अभियंता), रजनीश कुमार (एसडीओ), दिवाकर यादव (जेई) सुबोध कुमार (अधीक्षण अभियंता,उन्नाव) वैभव चौधरी (अधीक्षण अभियंता, आईटी सेल मुख्यालय) पर आज ही सख्त कार्रवाई करने तथा उपभोक्ता को शीघ्र राहत देने के लिए एम0डी0, मध्यांचल को निर्देशित किया।

ऊर्जा मंत्री एके शर्मा ‘‘सम्भव‘‘ व्यवस्था के तहत आज माह के तीसरे बुधवार को स्वयं के स्तर पर राज्य स्तरीय जनसुनवाई कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने सभी डिस्कॉम से आई कुल 20 शिकायतों की सुनवाई की और कहा कि आज इन शिकायतों से संबंधित इसी प्रकार की 20 हजार शिकायतों को सुलझाने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने गाजीपुर जनपद के शिकायतकर्ता ब्रह्मदेव यादव की शिकायत 11000 बोल्ट की लाइन जमीन से मात्र तीन फिट ऊपर उसके खेत से जाने को ऊपर उठाने तथा 30000 वोल्ट की लाइन सम्बन्धी शिकायत को शीघ्र ठीक करने के निर्देश दिये। इसी प्रकार मिर्जापुर जनपद के निवासी सुरेश कुमार सिंह की शिकायत आटा चक्की के लिए विद्युत संयोजन पर पैसा लिए जाने की शिकायत पर संबंधित अवर अभियंता अजय कुमार दुबे को तत्काल गिरफ्तार कर निलंबित करने के निर्देश दिए। आजमगढ़ निवासी श्री अभिषेक राय ओरा संविदा कर्मी की कार्य के दौरान करंट लग जाने से हाथ कटने और बिजली विभाग द्वारा अभी तक कोई न देने पर शीघ्र मुआवजा देने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि विभाग की ऐसी बहुत सी समस्याओं के समाधान के लिए व कार्मिकों को शीघ्र राहत देने के लिए मुख्यालय स्तर पर एक फंड बनाया जाए।

ए0के0 शर्मा ने गोंडा जनपद निवासी महमूद अख्तर खां के दुकान के लिए विद्युत संयोजन पर अवर अभियंता द्वारा रिश्वत मांगने एवं उत्पीड़न करने के मामले को गंभीरता से लेते हुए अवर अभियंता के खिलाफ चार्जशीट देने के निर्देश दिए। इसी प्रकार आगरा निवासी देशराज सिंह की शिकायत जिसमें 22 वर्ष से उपभोक्ता द्वारा बिना मीटर लगाए विद्युत उपभोग करने तथा उपभोक्ता के अनुरोध पर भी मीटर ना लगाकर विभाग को आर्थिक नुकसान पहुंचाने वाले े अधिकारियों से सीधे वसूली प्रावधान किया जाये । इसी प्रकार मथुरा निवासी सौरभ अग्रवाल की शिकायत 31 मई 2022 को 05 किलोवाट वाणिज्यिक संयोजन के लिए स्टीमेट जमा करने के बाद भी अभी तक संयोजन न देने तथा मनमाना स्टीमेट बनाने व परेशान करने पर सोहन लाल (कंप्यूटर ऑपरेटर) पर सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए।

ऊर्जा मंत्री श्री ए0के0 शर्मा ने कार्यों में लापरवाही एवं शिथिलता बरतने वाले तथा विभाग के राजस्व को नुकसान पहुंचाने वाले बिजली विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों पर तत्काल सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि उपभोक्ताओं की परेशानियों के प्रति संवेदनशीलता दिखानी होगी। इसमें अब काम चलाऊ व टालने की कार्य संस्कृति नहीं चलेगी। उन्होंने सभी डिस्कॉम के एमडी को जनता की शिकायतों को गंभीरता से न लेने वाले अधिकारियों व कर्मचारियों को चिन्हित कर उनके खिलाफ सख्त कार्यवाई करने के निर्देश दिए। साथ ही जन शिकायतों के लंबित प्रकरणों एवं विभाग को आर्थिक नुकसान पहुंचाने वाले कार्यों की जांच कर सीधे संबंधित अधिकारी व कर्मचारी से वसूली की जाए, इसके भी निर्देश दिए।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Vnation के Facebook पेज को LikeTwitter पर Follow करना न भूलें...
Leave A Reply

Your email address will not be published.