पुंछ के सुरनकोट में सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़, एक आतंकी ढेर

0 62

जम्मू-कश्मीर (Jammu & Kashmir) स्थित पुंछ के सुरनकोट सेक्टर (Surankote sector of Poonch) में सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ जारी है. शुरुआती जानकारी के अनुसार सेना, सीआरपीएफ (CRPF) और पुलिस की संयुक्त टीम ने घेराबंदी और सर्च ऑपरेशन की कार्रवाई शुरू की. सुरक्षाबलों को इनपुट मिला था कि कुछ संदिग्ध लोग इलाके में छिपे हुए हैं. जब टीम संदिग्ध जगह के पास पहुंची तो छिपे हुए आतंकियों ने गोलीबारी शुरू कर दी जिसके बाद सुरक्षाबलों ने भी जवाबी कार्रवाई की.

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार सुरनकोट सेक्टर में स्थानीय लोगों द्वारा संदिग्ध बंदूकधारी देखे जाने के बाद सैन्य जवानों ने तलाशी अभियान चलाया. जंगल में पेड़ों की होड़ में छिपे आतंकवादियों ने जब जवानों को अपने नजदीक आते देखा तो उन्होंने गोलीबारी शुरू कर दी. जवाबी फायरिंग में एक आतंकवादी मारा गया.इसके परिणामस्वरूप 1 एके 47 और 4 पत्रिकाएं बरामद हुई हैं. ये आतंकवादी किसी संगठन से संबंधित हैं, इस बारे में अभी कोई जानकारी नहीं मिली है. परंतु स्थानीय लोगों के अनुसार इनकी संख्या दो से तीन हो सकती है. सेना का अभियान अभी भी जारी है.

वहीं, कल यानी सोमवार को जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में आतंकवादी हमले में घायल हुआ एक और पुलिसकर्मी ने दम तोड़ दिया है. जिससे अब शहीदों की संख्या बढ़कर 3 हो गई है. बता दें कि श्रीनगर के जेवान में जम्मू कश्मीर पुलिस की एक बस पर आतंकियों ने गोलीबारी की थी. गोलीबारी में दो पुलिसकर्मी शहीद हुए थे और 14 घायल हुए थे. इस घटना की जिम्मेदारी कश्मीर टाइगर्स ने ली हैं. इधर जम्मू-कश्मीर में बढ़ते आतंकी हमलों को लेकर लोकसभा में कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने केंद्र सरकार की नीतियों पर सवाल उठाएं हैं. उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में लगातार हो रही आतंकी घटनाएं बताती हैं कि कश्मीर पर सरकार की नीति पूरी तरह से विफल हो गई हैं.

सोमवार शाम पंथा चौक क्षेत्र के जेवान में 25 पुलिसकर्मियों को ले जा रही बस पर आतंवादियों ने गोलीबारी की थी. हमले में जम्मू-कश्मीर सशस्त्र पुलिस की नौवीं बटालियन के कम से कम 14 पुलिसकर्मी घायल हो गए, जिन्हें विभिन्न अस्पतालों में ले जाया गया और इनमें से दो ने सोमवार को दम तोड़ दिया था.जान गंवाने वालों में सशस्त्र पुलिस का एक सहायक उप-निरीक्षक भी शामिल है. कश्मीर के आईजीपी विजय कुमार ने बताया कि इस हमले में दो से तीन आतंकवादी शामिल थे और अंधेरे का फायदा उठाकर वे फरार हो गए. अधिकारियों ने बताया कि आतंकवादियों की धरपकड़ के लिए इलाके की घेराबंदी कर तलाशी अभियान चलाया जा रहा है.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Vnation के Facebook पेज को LikeTwitter पर Follow करना न भूलें...
Leave A Reply

Your email address will not be published.