अमिताभ बच्चन की एक ‘ना’ से कैसे टूट गई सलीम-जावेद की जोड़ी? दोनों फिल्म राइटर्स की रियल लाइफ स्टोरी में ऐसे आया था ट्विस्ट

एक दिन अचानक ही जावेद और सलीम ने अलग होने का फैसला ले लिया था. ऐसे में तरह तरह की खबरें आने लगी थीं. जिससे कि माहौल इन दोनों राइटर्स के बीच गर्म हो गया था.

0 145

एक वक्त था जब अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) एक के बाद एक कर सलीम-जावेद (Salim-Javed) की स्क्रिप्ट पर काम करने के लिए हांमी भर रहे थे. अमिताभ बच्चन ने सलीम खान (Salim Khan) और जावेद अख्तर (Javed Akhtar) के साथ पहली बार साल 1973 में फिल्म जंजीर में काम किया था. इस फिल्म से अमिताभ रातों-रात सुपरस्टार बन गए थे. इसी के साथ ‘एंग्री यंगमैन’ (Angry Young Man) का तमगा भी उन्हें फैंस से मिला था जो कि बाद में उनकी पहचान बना. इसके बाद सलीम जावेद स्क्रिप्ट लिखते गए और अमिताभ उन स्क्रिप्ट्स पर आंखें मूंद कर भरोसा कर काम करते गए. लेकिन फिर इस बीच ऐसा क्या हुआ कि इन जावेद और सलीम अचानक से अलग हो गए और ये तिकड़ी बिखर गई?

जब अचानक अलग हो गई सलीम-जावेद की जोड़ी

सलीम जावेद साल 1981 में अलग हो गए थे. सलीम जावेद ने अमिताभ बच्चन के साथ साल 1974 में आई ‘मजबूर’, 1975 में आई ‘दीवार’ और ‘शोले’, 1977 में आई ‘ईमान धरम’, 1978 में आई ;त्रिशूल’, फिर ‘डॉन’, 1979 में ‘काला पत्थर’ 1980 में ‘दोस्ताना’ और ‘शान’, 1982 में शक्ति में काम किया था.

एक दिन अचानक ही जावेद और सलीम ने अलग होने का फैसला ले लिया था. ऐसे में तरह तरह की खबरें आने लगी थीं. जिससे कि माहौल इन दोनों राइटर्स के बीच गर्म हो गया था. कुछ और ऐसी रिपोर्ट्स थीं जिनमें सलीम जावेद के अलग होने का कारण बताया गया. एक कारण अमिताभ बच्चन से जुड़ा हुआ सामने आया था. उस वक्त मिस्टर इंडिया फिल्म की स्क्रिप्ट पर काम किया जा रहा था.

जब अमिताभ बच्चन ने ‘मिस्टर इंडिया’ बनने से कर दिया इनकार

साल 2015 में स्क्रोल डॉटइन द्वारा किताब ‘ रिटन बाय सलीम जावेद : द स्टोरी ऑफ हिंदी सिनेमास ग्रेटेस्ट स्क्रीनराइटर’ (Written By Salim-Javed: The Story of Hindi Cinema’s Greatest Screenwriters) में से एक कोट उठाया गया था जिसमें सलीम खान के तरफ की बात का जिक्र किया गया था. दीपताकीर्ति चौधरी की लिखी इस किताब में अनीता (Anita Padhye)द्वारा लिए गए इंटरव्यू का जिक्र है.

किताब में बताया गया है कि कैसे सलीम और जावेद ने अमिताभ बच्चन को ‘मिस्टर इंडिया’ की स्क्रिप्ट के लिए अप्रोच किया था. लेकिन अमिताभ बच्चन को ये स्क्रिप्ट पसंद नहीं आई उन्हें इस स्क्रिप्ट में अपने कैरेक्टर का इंविजिबल होने वाला आइडिया कुछ खास अट्रैक्ट न कर पाया. जबकि जावेद और सलीम दोनों को ही लग रहा था कि इस कैरेक्टर के लिए अमिताभ बच्चन की आवाज सबसे बेहतरीन होगी. लेकिन इस बार अमिताभ बच्चन के विचार दोनों लेखकों से अलग हो गए. अमिताभ ने उस वक्त सोचा कि उनके फैंस थिएटर में उनका परफॉर्मेंस देखने जाएंगे, सिर्फ आवाज सुनने नहीं जाएंगे.

ये थी सलीम-जावेद के अलग होने की असली वजह?

किताब में आगे मेंशन किया गया है कि अमिताभ बच्चन द्वारा ये स्क्रिप्ट रिजेक्ट की जाने के बाद जावेद अख्तर ही थे जिन्होंने कहा था कि सलीम-जावेद अब उनके साथ कभी काम नहीं करेंगे. कथित रूप से सलीम खान ने इस वक्त इस बारे में अश्योरिटी दिखाई. तो वहीं बात में इस पूरी कहानी को पलट दिया गया. बुक में आगे कहा गया कि जावेद जब एक बार अमिताभ बच्चन की होली पार्टी में गए थे तब उन्होंने बिग बी को बताया था कि सलीम खान ही वो शख्स थे जो आने वाले समय पर अमिताभ के साथ काम नहीं करने का मन बना चुके थे. बहुतों का मानना है कि इस कहानी ने सलीम और जावेद को हमेशा हमेशा के लिए एक दूसरे से अलग कर दिया.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Vnation के Facebook पेज को LikeTwitter पर Follow करना न भूलें...
Leave A Reply

Your email address will not be published.