दिल्ली पुलिस की शिकायत के लिए QR CODE : दिल्ली पुलिस की शिकायत के लिए अब QR CODE कर सकेंगे प्रयोग

0 108

QR CODE : अगर आप दिल्ली में रहते हैं तो ये खबर आपके लिए है। क्या हो अगर आप दिल्ली पुलिस में कोई शिकायत करे पर आप police की कार्यवाही से संतुष्ट न हों। ऐसी स्थिति में आपको गुस्सा तो बहुत आयेगा पर आपका काम नहीं होगा। इसी को ध्यान में रखते हुए दिल्ली पुलिस ने QR code सिस्टम और एक app लॉन्च किया है। जिसके जरिए आप स्कैन करके दिल्ली पुलिस की शिकायत कर सकते हैं। फिलहाल इसकी शुरूआत पश्चिमी दिल्ली जिला से की गई है। यहां जिला पुलिस उपायुक्त कार्यालय में पुलिस थानों का फीडबैक देने के लिए क्यूआर कोड सिस्टम लगाया गया है।
पश्चिमी जिला पुलिस उपायुक्त कार्यालय में एक बोर्ड पर सभी थानों के नाम के साथ क्यूआर कोड दिया गया है। जिसे अपने मोबाइल से स्कैन करने के बाद आप उस थाने को लेकर अपनी प्रतिक्रिया दे सकते हैं। इसकी निगरानी सीधे अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त द्वारा की जाएगी। पुलिस अधिकारी ने बताया कि फिलहाल इस सिस्टम को लागू कर इसका आंकलन किया जा रहा है।

अगर यह स्कीम कामयाब रही तो इसे आगे पूरी दिल्ली के सभी थानों में लागू किया जाएगा। साथ ही क्यूआर कोड के माध्यम से ही आगे ज्यादा से ज्यादा ऑप्शन उपलब्ध करवाने के बारे में भी काम किया जा रहा है। पुलिस सूत्रों की मानें तो आगे इसी तरह से क्यूआर कोड का इस्तेमाल कर ऑनलाइन शिकायत देने और केस दर्ज कराने में इस्तेमाल किया जाएगा।

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि दिल्ली के पश्चिमी जिले में कुल 12 थाने हैं। इनमें हरिनगर, इंदरपुरी, जनकपुरी, ख्याला, कीर्तिनगर, मायापुरी, मोतीनगर, नारायणा, पंजाबी बाग, राजौरी गार्डन, तिलकनगर और विकासपुरी थानों के नाम शामिल हैं। इन सभी थानों के लिए एक खास क्यूआर कोड और ऐप तैयार किया गया है। इस ऐप को गुगल से डाउऊनलोड़ किया जा सकता है। जबकि क्यूआर कोड को मोबाइल से स्कैन करते ही आपके मोबाइल पर संबंधित थाने का लिंक आ जाएगा। जिसे क्लिक करते ही आप सीधे संबंधित थाने के पेज पर चले जाएंगे। जहां आप उस थाने से संबंधित अपना अनुभव, अपनी प्रतिक्रिया, सुझाव व अपनी कोई शिकायत हो तो आप शिकायत भी दे सकते हैं। इन सभी की निगरानी जिला में तैनात आईपीएस अधिकारी खुद करते हैं।

कैसे करता है यह काम ….

पश्चिमी दिल्ली उपायुक्त कार्यालय के मुख्य गेट के पास ही फीडबैक फॉर्म नाम का बोर्ड लगाया गया है। बोर्ड पर सभी 12 थानों के नाम के साथ उनके क्यूआर कोड अंकित किए गए हैं। कोई भी व्यक्ति इसका इस्तेमाल करने के लिए अपने एंड्रॉयड फोन के कैमरें की मदद से संबंधित थाने की क्यूआर कोड स्कैन कर सकेगा। क्यूआर कोड स्कैन करते ही मोबाइल पर उस थाने से संबंधित फीडबैक फॉर्म का लिंक आ जाएगा। इस लिंक पर क्लिक करते ही आप सीधे फीडबैक फॉर्म पर चले जाएंगे। जहां आप अपनी प्रतिक्रिया और शिकायत दर्ज करा सकते हैं। शिकायत और फीडबैक पर अधिकारी सीधे नजर रखेंगे। ऐसे में अगर किसी थाने की शिकायत आती है तो अधिकारी उस थाने के एसएचओ से जवाब तलब करेंगे और अधिकारी को इस संबंध में पुलिस मुख्यालय तक को सूचना देनी होगी। पीड़ित व्यक्ति की शिकायत पर तुंरत कार्रवाई की जाएगी और इस संबंध में उसे सूचना भी दी जाएगी।

रिर्पोट -मेघा गंगवार 

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Vnation के Facebook पेज को LikeTwitter पर Follow करना न भूलें...
Leave A Reply

Your email address will not be published.