क्राइम ब्रांच के हत्थे चढ़ा इनामी बदमाश अनिल दुजाना

0 170

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच (Delhi Crime Branch) ने उत्तर प्रदेश के इनामी गैंगस्टर अनिल दुजानों और उस के दो साथियों को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस ने अनिल दुजाना को गिरफ्तार कर एक बिजनेसमैन की जान बचाई है. दरअसल अनिल दुजाना का मानना था कि उसके करीबी राहुल नागर की हत्या में मंडावली के बिजनेसमैन ने सुंदर भाटी गिरोह का साथ दिया है इसलिए वो व्यवसायी की हत्या के लिए उसकी रैकी कर रहा था. अनिल दुजाना के खिलाफ दिल्ली और यूपी में हत्या, हत्या का प्रयास, आर्म्स एक्ट और रॉबरी सहित 61 से ज्यादा मामला दर्ज हैं. यूपी पुलिस ने अनिल दुजाना पर 75 हजार रुपये का इनाम भी घोषित कर रखा था.

क्राइम ब्रांच के संयुक्त पुलिस आयुक्त धीरज कुमार ने बताया कि ब्रांच के इंस्पेक्टर अनिल सिद्धू को पांच जनवरी को सूचना मिली थी कि गैंगस्टर अनिल दुजाना मंडावली इलाके में एक बिजनेसमैन की हत्या करने के लिए अपने दो साथियों के साथ मिलकर रैकी कर रहा है.

इसके बाद एसीपी अरविंद कुमार की देख रेख में इंस्पेक्टर अरुण सिद्धू और हवलदार अवधेश ने मंडावली में घेराबंदी शुरू की. पुलिस ने पहले गांव मिलक खटाना थाना जर्चा जिला गौतमबुद्ध नगर निवासी सचिन गुज्जर को स्विफ्ट डिजायर समेत गिरफ्तार किया. उसकी कार की तलाशी लेने पर एक सेमी-ऑटोमेटिक पिस्टल और छह कारतूस बरामद हुए.

इसके बाद पुलिस ने गांव दुजाना निवासी सुनील उर्फ अनिल उर्फ दुजाना और उसके साथी चिल्ला गांव, मयूर विहार के रहने वाले रकम सिंह को गिरफ्तार किया. पुलिस को इन के पास से दो सेमी-ऑटोमेटिक पिस्टल और नौ कारतूस बरामद हुए हैं. इनके खिलाफ अपराध शाखा ने मामला दर्ज कर लिया है. नोएडा पुलिस ने अनिल दुजाना पर 50 हजार और बुलंदशहर पुलिस ने रंगदारी के मामले में 25 हजार का इनाम घोषित किया था.

अनिल दुजाना ने पुलिस को बताया कि उसके साथी राहुल नागर उर्फ भुरू की हत्या मंडावली इलाके में संपत्ति विवाद में सुंदर भाटी गिरोह के सदस्यों ने की थी. इस मामले में सुंदर भाटी गिरोह के आठ सदस्य गिरफ्तार किए गए थे. अनिल दुजाना को लगता था कि मंडावली में रहने वाले एक व्यवसायी ने सुंदर भाटी गिरोह के सदस्यों की आर्थिक और अन्य तरह से सहायता की है.

नौवीं क्लास पढ़े अनिल दुजाना ने 2002 में क्राइम की दुनिया में उस समय कदम रखा था जब उसने अपने साथियों के साथ पहलवान हरबीर की हत्या की थी. इसके बाद उसने दिल्ली और यूपी में हत्या, हत्या के प्रयास, रंगदारी, डकैती आदि की 61 से अधिक वारदातें कीं.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Vnation के Facebook पेज को LikeTwitter पर Follow करना न भूलें...
Leave A Reply

Your email address will not be published.