यूपी-बिहार समेत इन 6 राज्यों की 7 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव के लिए वोटिंग जारी, तेलंगाना BJP अध्यक्ष गिरफ्तार

0 50

नयी दिल्ली. सुबह की बड़ी खबर के अनुसार, आज यूपी (UP), बिहार (Bihar) और महाराष्ट्र (Maharashtra), हरियाणा (Haryana), ओडिशा (Odisha) और तेलंगाना (Telangana) की 7 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव (By Election) हो रहा है। वहीं आगामी 6 नवंबर को इन सभी सीटों के वोटों की गिनती की जाएगी। आज जिन 7 सीटों पर उपचुनाव हो रहा है, उनमें 2-2 सीटों पर BJP और कांग्रेस का कब्जा था। वहीं, 3 सीटों पर बीडेजी, शिवसेना और आरजेडी थे। इसमें प्रमुखता से उत्तरप्रदेश की लखीमपुर खीरी की सीट भी शामिल हैं, जहां किसानों की हत्या को लेकर कुछ समय पहले काफी बवाल हुआ था।

इसी क्रम में आज बिहार की 2 सीटों मोकामा और गोपालगंज, उत्तर प्रदेश के गोला गोकर्णनाथ , हरियाणा के आदमपुर, तेलंगाना के मुनुगोडे, ओडिशा के धामनगर और महाराष्ट्र की अंधेरी ईस्ट पर उपचुनाव के लिए आज मतदान शुरू है। पता हो कि, इनमें से 6 सीटों पर विधायको के निधन की वजह से चुनाव हो रहा है। तो वहीं, तेलंगाना में कांग्रेस विधायक के BJP में चले जाने से यह सीट खाली हुई है।

गौरतलब है कि ये उपचुनाव फिलहाल BJP के लिए बड़ी परीक्षा माने जा रहे हैं। जहां एक तरफ बिहार में पार्टी की सीधी टक्कर नीतीश-तेजस्वी के महागठबंधन से है तो वहीँ आज तेलंगाना में केसीआर की TRS से अपनी सीट बचाना पार्टी के लिए चुनौती साबित होने वाला है। इसी प्रकार दूसरे राज्यों में भी क्षेत्रीय दल BJP के लिए मुश्किल बनेंगे।

इन्ही सबके बीच आ रही खबर के अनुसार, तेलंगाना में ठीक मतदान से पहले तेलंगाना पुलिस ने BJP प्रदेश अध्यक्ष बंदी संजय को अब्दुल्लापुरमेट थाना क्षेत्र से अपनी हिरासत में ले लिया है। दरअसल BJP के बंदी संजय ने आरोप लगाया कि सत्ताधारी TRS पार्टी के मंत्री और नेता चुनाव नियमों का उल्लंघन करके लोगों को डरा रहे हैं या फिर उन्हें लालच दे रहे हैं। लेकिन इस बाबत बार-बार जानकारी देने पर भी स्तःनीय पुलिस कोई भी कार्रवाई नहीं कर रही है। वहीं जब इसके खिलाफ BJP नेताओं ने प्रदर्शन किया, तो उन्हें तुरंत ही हिरासत में ले लिया गया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Vnation के Facebook पेज को LikeTwitter पर Follow करना न भूलें...
Leave A Reply

Your email address will not be published.