राघव चड्ढा ‘इंडिया यूके आउटस्टैंडिंग अचीवर्स ऑनर’ अवार्ड से होंगे सम्मानित

0 25

दिल्ली/चंडीगढ़: राज्यसभा सांसद राघव चड्ढा 25 जनवरी 2023 को लंदन में प्रतिष्ठित इंडिया यूके अचीवर्स ऑनर्स में “आउटस्टैंडिंग अचीवर” सम्मान प्राप्त करेंगे। राघव को “सरकार और राजनीति” श्रेणी के लिए “आउटस्टैंडिंग अचीवर” के रूप में चुना गया है। यह सम्मान ऐसे व्यक्तियों को दिया जाता है जो लोकतंत्र और न्याय का अनुभव कैसे किया जाता है और लोगों और ग्रह की भलाई के लिए एक साथ चुनौतीपूर्ण सामाजिक समस्याओं से कैसे निपटा जाता है, इसमें उत्कृष्टता का प्रदर्शन कर रहे हैं।

इंडिया यूके अचीवर्स ऑनर्स भारत की 75वीं स्वतंत्रता वर्षगांठ के अवसर पर यूके में अध्ययन करने वाले युवा भारतीयों की शैक्षिक और व्यावसायिक उपलब्धियों के सम्मान में मनाया जा रहा है।बता दें कि चड्ढा ने प्रतिष्ठित लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स (एलएसई) से पढ़ाई की है। पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने लंदन में एक बुटीक वेल्थ मैनेजमेंट फर्म की स्थापना की। इसके बाद वे भारत लौट आए और एक युवा कार्यकर्ता के रूप में भ्रष्टाचार विरोधी कानून की मांग करते हुए इंडिया अगेंस्ट करप्शन मूवमेंट में शामिल हो गए। बाद में इस आंदोलन ने आम आदमी पार्टी (आप) का रूप लिया, जिसका नेतृत्व आंदोलन के प्रमुख चेहरों में से एक श्री अरविंद केजरीवाल ने किया। एक युवा नेता के रूप में चड्ढा ‘आप के संस्थापक सदस्य बने और श्री केजरीवाल के मार्गदर्शन और सलाह के तहत काम किया। कड़ी मेहनत और समर्पण से भरे चड्ढा ने बहुत ही कम उम्र में भारतीय राजनीति में अपनी पहचान बनाई। 2022 में, केवल 33 वर्ष की आयु में, वह भारतीय संसद के उच्च सदन, राज्य सभा में संसद के सबसे कम उम्र के सदस्य बने, जहाँ वे पंजाब का प्रतिनिधित्व करते हैं।

पुरस्कार समारोह 25 जनवरी 2023 को लंदन में आयोजित किया जाएगा।यह समारोह (एनआईएसएयू,यूके) द्वारा भारत में ब्रिटिश काउंसिल के साथ साझेदारी में आयोजित किया गया है। समारोह यूके सरकार के अंतर्राष्ट्रीय व्यापार विभाग और यूके के उच्च शिक्षा क्षेत्र द्वारा समर्थित है। एक साल के भीतर चड्ढा को यह दूसरा अंतरराष्ट्रीय सम्मान मिलने जा है। पिछले साल, उन्हें सबसे प्रतिष्ठित विश्व आर्थिक मंच द्वारा यंग ग्लोबल लीडर के रूप में सम्मानित किया गया था।

इंडिया यूके आउटस्टैंडिंग अचीवर्स सम्मान प्राप्त करने पर राघव चड्ढा ने कहा, “यह पुरस्कार किसी व्यक्ति की उपलब्धियों की मान्यता नहीं है बल्कि मेरे नेता अरविंद केजरीवाल द्वारा शुरू की गई राजनीति के एक नए ब्रांड की मान्यता है। भारत की सबसे तेजी से बढ़ती राजनीतिक स्टार्ट-अप, आम आदमी पार्टी, वास्तव में अपने लोगों का प्रतिनिधि है। यह पुरस्कार लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स के एक पूर्व छात्र की केजरीवाल स्कूल ऑफ पॉलिटिक्स के मशाल वाहक बनने की यात्रा को मान्यता देता है, जिसका मैं एक छात्र हूं और ऐसे ही कई चेहराविहीन और नामहीन जमीनी कार्यकर्ता हैं। मैं यह पुरस्कार अपने नेता अरविंद केजरीवाल जी और उन लोगों को समर्पित करता हूं जिन्होंने इस पार्टी को बनाने के लिए अथक परिश्रम किया है। यह पुरस्कार मुझे कड़ी मेहनत करने और अपनी क्षमता के अनुसार अपने देश के लोगों की सेवा करने के लिए प्रेरित करेगा।”

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Vnation के Facebook पेज को LikeTwitter पर Follow करना न भूलें...
Leave A Reply

Your email address will not be published.